मुंबई। कोरोना वायरस ( CoronaVirus ) से बचाव के लिए मुंबई पुलिस ( Mumbai Police ) ने एक सराहनीय कदम उठाया है। दरअसल, मुंबई पुलिस कमिश्नर परम बिर सिंह ने अपने कर्मचारियों को कोरोना के प्रकोप से बचाने के लिए वरिष्ठ अधिकारियों को घर में ही रहने का आदेश दिया है। उनका कहना है कि जिन पुलिस अधिकारियों की उम्र 55 साल से ज्यादा है वो ड्यूटी पर ना आएं। इसके अलावा 52 साल से अधिक उम्र के वो पुलिसकर्मी, जिन्हें शुगर, बीपी, हृदय या अन्य मेडिकल संबंधी समस्याएं हैं, उनको भी घर पर रहने के निर्देश दिए हैं।

मुंबई पुलिस के तीन कर्मचारियों की हो गई थी मौत

आपको बता दें कि मुंबई पुलिस का ये फैसला एहतियात के तौर पर लिया गया है, क्योंकि पिछले दिनों कोरोना वायरस की वजह से मुंबई पुलिस के तीन कर्मचारियों की मौत हो गई थी, जिसके बाद मुंबई पुलिस कमिश्नर ने ये कदम उठाया है।

मरने वाले तीनों पुलिसकर्मी थे 50 से ज्यादा की उम्र में

मुंबई पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया है कि जिन तीन पुलिसवालों की मौत कोरोना की वजह से हुई थी, उनमें से सभी की उम्र 50 साल से ज्यादा थी। इतना ही नहीं एक पुलिसकर्मी का इलाज अस्पताल में चल रहा है, उनकी भी उम्र 50 साल से ज्यादा है। इसी वजह से विभाग ने अपने वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को घर पर ही रहने की सलाह दी है।

‘पुलिसकर्मियों की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए उठाए जा रहे हैं कदम’

मुंबई पुलिस डिपार्टमेंट अपने वरिष्ठ अधिकारियों की रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए मल्टी-विटामिन और प्रोटीन सप्लीमेंट देने की सलाह दी है। उन्होंने आगे कहा कि मलेरिया रोधी दवा हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन (एचसीक्यू) की गोलियां 12,000 कर्मियों को डॉक्टरों की देखरेख में दी जा रही हैं।

चेन्नई में भी 55 से ज्यादा उम्र के पुलिसकर्मियों की फील्ड ड्यूटी खत्म

आपको बता दें कि मुंबई पुलिस से पहले इस तरह का फैसला चेन्नई पुलिस ने भी लिया है। चेन्नई में भी 55 साल से अधिक उम्र के पुलिसकर्मियों को फील्ड की ड्यूटी से निजात दे दी हैै। चेन्नई में भी हाल ही 55 वर्षीय पुलिस उप निरीक्षक को कोरोना संक्रमण हुआ था, जिसके बाद महानगर पुलिस आयुक्त एके विश्वनाथन ने मंगलवार को यह निर्देश दिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here